Category: OWN CREATIVITY

होशियार बिटिया

एक बार, एक परिवार में ‘प्रिया’ नाम की छोटी सी लड़की रहती थी। वह अपने माता-पिता के साथ रहती थी। प्रिया अपने माता-पिता की लाड़ली ….

थोड़ा तो समझते मुझे !!!

माना की बहुत गुस्सा आता है मुझे, माना की बहुत लड़ती हूँ मैं, पर तुम तो बहुत समझदार हो न तो थोड़ा तो समझते मुझे ….

क्यों बार बार ???

क्यों बार बार मुझे ही समझना पड़ता है ??? क्यों बार बार मुझे ही समझाना पड़ता है ??? माना की मैं थोड़ी नादान हूँ, थोड़ा ….